कोरोना वैक्सीन पर नया खुलासा, अब पड़ सकती है तीसरी खुराक की भी जरूरत

कोरोना वायरस महामारी को लेकर दुनिया भर में टीकाकरण अभियान जारी है। इस बीच फाइजर के प्रमुख ने गुरुवार को प्रसारित एक इंटरव्यू में कहा कि टीकाकरण के 12 माह के भीतर लोगों को उनकी कंपनी की वैक्सीन की तीसरी डोज की आवश्यकता पड़ सकती है।

सीईओ अल्बर्ट बोरला ने यह भी कहा कि कोरोनावायरस के विरुद्ध वार्षिक टीकाकरण की जरूरत हो सकती है। सीएनबीसी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘हमें यह देखने की जरूरत है कि अनुक्रम क्या होगा, और कितनी बार हमें ऐसा करने की जरूरत है, जो कि देखा जाना बाकी है।’उन्होंने आगे कहा, ‘एक संभावित परिदृश्य यह है कि वैक्सीन की तीसरी डोज की आवश्यकता होगी। यह 6 महीने से 12 महीने के अंदर हो सकता है। और फिर उसके बाद से वार्षिक टीकाकरण की जरूरत होगी। मगर अभी इन सब की पुष्टि होना बाकी है।’ साथ ही उन्होंने कहा कि वैरियंट इसमें ‘महत्वपूर्ण भूमिका’ निभाएंगे। बता दें कि फाइजर ने इस महीने की शुरुआत में एक स्टडी प्रकाशित की थी कि इसकी वैक्सीन कोरोनावायरस से बचाव के लिए 91 प्रतिशत तक प्रभावी है और दूसरी डोज के बाद कोरोना के गंभीर मामलों में छह महीनों तक 95 प्रतिशत तक प्रभावी होगी। मगर शोधकर्ताओं का कहना है कि अभी यह और शोध का विषय है कि सुरक्षा छह महीने के बाद तक रहती है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *