पीएम मोदी ने छेड़ा सनातन का मुद्दा

रणघोष अपडेट. देशभर से

प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान में सनातन धर्म का मुद्दा छेड़ दिया है। चुनावी रैली में उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस और उसके साथियों ने सनातन धर्म को ख़त्म करने की घोषणा कर दी है। उन्होंने सनातन धर्म से जोड़ते हुए आरोप लगाया कि वे राजस्थान की संस्कृति को ख़त्म करना चाहते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सनातन को लेकर इन्होंने क्या-क्या कहा है ये पूरे देश ने देखा है। कांग्रेस और उसके साथी सनातन को ख़त्म करने का ऐलान कर रहे हैं। सनातन को खत्म करने का मतलब है राजस्थान की संस्कृति को खत्म करना। क्या आप ये करने देंगे?’प्रधानमंत्री मोदी ने उस मुद्दे को उठाया है जो इसी साल सितंबर महीने में चर्चा में था। तब तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे उदयनिधि स्टालिन ने कहा था कि सनातन धर्म लोगों को जाति और धर्म के नाम पर विभाजित करता है और इसे ख़त्म करने की ज़रूरत है। विवाद बढ़ने के बाद भी अपने बयान पर कायम रहते हुए उन्होंने कहा था, ‘मुझे अपने भाषण के महत्वपूर्ण पहलू को दोहराना चाहिए- मेरा मानना है कि मच्छरों द्वारा डेंगू और मलेरिया और कोविड -19 जैसी बीमारियों के फैलाए जाने की तरह ही सनातन धर्म कई सामाजिक बुराइयों के लिए जिम्मेदार है।’तभी उदयनिधि के उस बयान को बीजेपी ने लपक लिया था। उनका बयान आने के तुरंत बाद अमित शाह ने आरोप लगाया था कि ‘इंडिया’ गठबंधन हिंदू धर्म को ख़त्म कर सत्ता हथियाना चाहता है। उन्होंने राजस्थान में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, “I.N.D.I.A गठबंधन की दो प्रमुख पार्टियाँ कांग्रेस और डीएमके कह रही हैं कि सनातन धर्म को ख़त्म कर देना चाहिए। तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति करने के लिए इन लोगों ने ‘सनातन धर्म’ का अपमान किया है।”सितंबर महीने में ही तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी विपक्षी इंडिया गठबंधन पर तीखा हमला बोलते हुए मध्य प्रदेश में कहा था कि वह सनातन धर्म को ख़त्म करना चाहता है और देश को 1,000 साल की ग़ुलामी में धकेलना चाहता है।विपक्षी नेताओं को इसका अंदाज़ा था इसलिए उन्होंने तब से ही सावधानी बरतनी शुरू कर दी थी। इसी को लेकर आगाह करते हुए स्टालिन ने कहा था, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले अपने कैबिनेट सहयोगियों को सनातन धर्म की रक्षा करने के लिए कहा था, यह स्पष्ट संकेत है कि वह इस विवाद से राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा था, ‘केंद्रीय मंत्रियों में से एक जानबूझकर सनातन को चर्चा का मुद्दा बनाकर लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहा है। हमारे लोगों को उनकी विफलताओं को छिपाने के लिए भाजपा की चाल का शिकार नहीं होना चाहिए।’बहरहाल, पीएम मोदी ने अब राजस्थान में सनातन के मुद्दे के अलावा कांग्रेस पर दंगा करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस ने राजस्थान को दंगों में झोंक दिया। दंगों और आतंकी मानसिकता वालों के हौसले बुलंद हो गए। सौहार्द की इस धरा पर ऐसी-ऐसी घटनाएं हुईं, जिनके बारे में कभी कल्पना भी नहीं की जा सकती। ऐसी विकृत मानसिकता वाली कांग्रेस को अच्छे से सबक सिखाना जरूरी है।’पीएम ने कहा कि जालौर के कानिवाड़ा में हनुमान जी के प्राचीन मंदिर में पीढ़ियों से दलित समाज के ही पुजारी होते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी प्रेरणादायी भूमि पर कांग्रेस के संरक्षण में दलितों को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि राजस्थान में भी 5 वर्ष तक दलित परिवारों के साथ हुए अत्याचार पर कांग्रेस ने यही किया है।पेट्रोल की क़ीमत को लेकर भी पीएम मोदी ने कहा कि राजस्थान सरकार की लूट का एक उदाहरण यहां पेट्रोल की कीमतें हैं। उन्होंने कहा, ‘राजस्थान के पड़ोसी राज्यों हरियाणा, उत्तर प्रदेश और गुजरात में भाजपा की सरकार है, वहां पेट्रोल 97 रुपये प्रति लीटर मिलता है। लेकिन राजस्थान की कांग्रेस सरकार इन राज्यों से 12 रुपये ज्यादा महंगा पेट्रोल बेचती है। मैं आज राजस्थान को गारंटी देता हूं कि 3 दिसंबर के बाद यहां भाजपा सरकार बनने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों की समीक्षा की जाएगी। इससे गरीब और मध्यम वर्गीय परिवारों को बहुत राहत मिलेगी।’

One thought on “पीएम मोदी ने छेड़ा सनातन का मुद्दा

  1. Wow, superb weblog format! How long have you ever been running a blog for?
    you made blogging glance easy. The whole look of your website
    is great, let alone the content material! You can see similar here e-commerce

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *