हैप्पी न्यू ईयर: वुहान और शंघाई में कोविड से बेखौफ लोग बाहर निकले

रणघोष अपडेट. विश्वभर से 

भारत ही नहीं चीन में भारी तादाद में लोग कोविड से बेख़ौफ़ होकर नए साल के स्वागत का जश्न मनाने जगह जगह जमा हुए। कई जगह इतनी भीड़ हो गई कि चीनी अधिकारियों को लाउडस्पीकर का सहारा लेकर लोगों को सावधान करना पड़ा। वुहान शहर में लोगों को आधी  रात को ग़ुब्बारे छोड़ते देखा गया। वुहान हाई स्कूल के छात्र वैंग ने न्यूज़ एजेंसी  रॉयटर्स को आधी रात के बाद नदी के किनारे से बताया- पिछले एक साल में कोविड-19 बहुत गंभीर था और मेरे परिवार के कुछ सदस्यों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुझे उम्मीद  है कि वे नए साल में स्वस्थ होंगे। यही सबसे महत्वपूर्ण बात है। वुहान में कुछ लोग फैंसी ड्रेस में आए थे और लगभग सभी ने मास्क पहन रखा था। यह वही शहर है जिसके बारे में बताया गया है कि यहाँ से कोविड की शुरुआत हुई थी। अब जब से यहाँ  कोविड प्रतिबंध हटे हैं तो आबादी के बड़े हिस्से को कोविड फिर से संक्रमित कर चुका है। यहाँ रोज़ाना 9000 मामले आ रहे हैं। जिन नाम की महिला ने कहा कि मुझे डर लग रहा है कि कहीं मुझे दोबारा कोविड इन्फेक्शन न  हो जाए। उसने कहा- आज रात जब मैं बाहर आई तब भी मैं डर रही थी, लेकिन मैं बस बाहर आना चाहती थी, क्योंकि हर कोई बाहर आ गया है।यह  भारी भीड़ जो विशेष रूप से वुहान के हनकौ कस्टम्स हाउस में पुराने क्लॉक टॉवर के सामने जमा थी। वहाँ बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारियों, SWAT, अज्ञात सादे-कपड़ों वाले कर्मचारी और अन्य सुरक्षा कर्मचारी मौजूद थे। नवंबर के अंत में सैकड़ों लोगों ने वुहान सहित देश भर के शहरों की सड़कों पर तालाबंदी के ख़िलाफ़ प्रदर्शनों में भाग लिया था। उन विरोधों के बाद, चीन ने कड़े प्रतिबंधों को वापस ले लिया था। चीन की ज़ीरो  कोविड पॉलिसी के ख़िलाफ़ लोग सड़कों पर निकल आए थे। उसके बाद वैसी भीड़ नए साल के जश्न पर देखी गई।

ई-कॉमर्स क्षेत्र में काम करने वाले 24 वर्षीय वुहान निवासी चेन ने कहा, वे प्रतिबंध बहुत लंबे समय से थे, इसलिए शायद लोग बहुत दुखी थे।

वुहान पुलिस ने कई स्थानों पर लाउडस्पीकरों का इस्तेमाल किया।  लोगों को इकट्ठा न होने के लिए बार-बार घोषणाएं कीं, जिस पर लोगों ने बहुत कम या कोई ध्यान नहीं दिया।लोग बस अच्छा समय बिताना चाहते थे।

वुहान निवासी 37 वर्षीय किंडरगार्टन टीचर  लिली झाओ ने कहा- मैं नए साल का इंतजार कर रही हूं, लेकिन मैं बहुत घबराई हुई भी हूँ। मैं सोच रही हूं कि यह महामारी पूरी तरह कब खत्म होगी।

शंघाई में, जो 2022 में कई चीनी शहरों की तरह एक लंबे लॉकडाउन से गुजरा था, काफ़ी लोग ऐतिहासिक नदी के किनारे के रास्ते, बुंद पर उमड़ पड़े। दो दोस्तों के साथ यात्रा कर रहे 28 वर्षीय डिजिटल मीडिया कार्यकारी दा दाई ने कहा, हम सभी शंघाई में जश्न मनाने के लिए चेंगदू से चलकर आ रहे  हैं। हमारे यहाँ पहले से ही COVID है, इसलिए अब खुद में आनंद लेना सुरक्षित है। हालाँकि  बंड पर वारंट पुलिस के काफ़ी लोग थे जो वहां के ट्रैफ़िक  को निर्देशित कर रहे थे। लेकिन स्थानीय एफएंडबी प्रतिष्ठान पर पिछले साल की तुलना में कम भीड़ थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *