नप में भ्रष्टाचार खुलेआम, कहां गए ईमानदारी की बड़ी बड़ी बातें करने वाले: सतीश यादव

पूर्व जिला प्रमुख सतीश यादव ने कहा कि रेवाड़ी नगर परिषद में जिस तरह से भ्रष्टाचार के आरोप  नगर परिषद के एक ठेकेदार द्वारा लगाए गए है, उससे साफ हो गया है कि नगर परिषद रेवाड़ी में भारी भ्रष्टाचार व्याप्त है। जनता की खून पसीने की कमाई की किस तरह से बंदरबांट हो रही है।  सतीश यादव ने कहा कि इसके लिए भाजपा  सरकार जिम्मेदार है।  सरकार ईमानदारी के दावे कर रही है, लेकिन जिस तरह से नगर परिषद  भ्रष्टाचार के मामले सामने आए हैं, उन नेताओ को भी कठघरे मे खड़ा कर दिया है जो ईमानदारी का ढोल पीटते नही थकते और उनके आशीर्वाद से चुनाव जीतने वाले नेता और अधिकारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं। सतीश यादव ने कहा कि कि नगर परिषद रेवाड़ी के भ्रष्टाचार का मामला आज पहला नहीं है। पिछले 17 वर्ष से लगातार रेवाड़ी नगर परिषद में भ्रष्टाचार चल रहा है, सतीश यादव ने कहा कि नगर परिषद मे हुए भ्रष्टाचार के आरोपों की ईमानदारी से जांच की जाए तो सामने आ जाएगा कि वर्षों से अरबों रुपए की ग्रांट जो नगर शहर रेवाड़ी में आई उसका हिस्सा किस-किस अधिकारी और नेता ने खाया।  सतीश यादव ने कहा कि उनकी धर्मपत्नी उपमा यादव ने चेयर पर्सन का चुनाव लड़ा था और अपने बच्चों की कसम खाकर कहा था कि वह नगर परिषद रेवाड़ी से भ्रष्टाचार मुक्त कर देंगे। भ्रष्टाचार को खत्म करके ही रेवाडी को सुन्दर शहर बनाया जा सकता है। लेकिन भ्रष्टाचार का जो मामला पिछले 17 वर्ष से चल रहा था आज भी कायम है जिसके सबूत एक ठेकेदार ने देकर नेताओं और अधिकारियों की असलियत जनता के सामने ला दी है। सतीश यादव ने कहा कि आज नगर परिषद  चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने जो भी दावे किए थे। एक भी दावे पर खरे नहीं उतर पाई हैं। शहर में जगह-जगह गंदगी का आलम है, बेसहारा  गोवंश सड़कों पर घूम रहा है। आम आदमी चोटिल हो रहा है, सड़कें जगह-जगह टूटी हुई है। भाजपा अपने एक भी वादे को पूरा करने में असफल रही है। वही जो चंद दिनों में भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। उससे भाजपा सरकार व ईमानदारी का दावा करने वाले नेताओ की पोल खोल दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: