पीएमओ के फर्जी अफसर का मामला गहराया, गुजरात के अफसर का इस्तीफा

रणघोष अपडेट. देशभर से 

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के फर्जी अफसर को जम्मू कश्मीर में पकड़े जाने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस्तीफा दे दिया है। हालांकि पीएमओ के नाम को खराब करने वाला कथित फर्जी अफसर कई दिन पहले पकड़ा गया था। किरण पटेल नामक शख्स बीजेपी का नेता है और जम्मू कश्मीर में एक जांच के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया। किरण पटेल के संबंध सीएमओ के एक अधिकारी के बेटे से थे। इसलिए पिता ने इस्तीफा दिया है।इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक गुजरात सीएमओ में अतिरिक्त जनसंपर्क अधिकारी हितेश पांड्या ने लगभग 22 साल तक कार्यालय में रहने के बाद शुक्रवार शाम अपना इस्तीफा सौंप दिया। उनके इस्तीफे का संबंध जम्मू कश्मीर में पकड़े गए किरण पटेल से है। हितेश ने केशुभाई पटेल, नरेंद्र मोदी, आनंदीबेन पटेल, विजय रूपानी और भूपेंद्र पटेल सहित पांच मुख्यमंत्रियों के अधीन काम किया था। हितेश पांड्या ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि मैंने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री (भूपेंद्र पटेल) को सौंप दिया है। किसी ने मुझे इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा। मुझे लगा कि मुझे इस्तीफा दे देना चाहिए। मैं अपना लंबित कार्य 31 मार्च तक समाप्त कर दूंगा और कार्यालय से मुक्त हो जाऊंगा। पंड्या ने स्वीकार किया कि उनके 43 वर्षीय बेटे अमित ने इस महीने किरण पटेल के साथ “व्यावसायिक उद्देश्य के लिए” उनकी सहमति से जम्मू-कश्मीर का दौरा किया था। अमित और जय सीतापारा नामक एक अन्य व्यक्ति किरण पटेल के साथ थे जब उन्हें इस महीने की शुरुआत में जम्मू-कश्मीर में गिरफ्तार किया गया था। मामले में पूछताछ के लिए अमित और सीतापारा को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बुलाया है।पंड्या के अनुसार, किरण पटेल के खिलाफ मामले में अमित “निर्दोष” और “गवाह” है। अपने बेटे के मौजूदा ठिकाने के बारे में पूछे जाने पर पांड्या ने कहा- वह वास्तव में कश्मीर में है। बेटे को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने गवाह के रूप में अपना बयान दर्ज करने के लिए बुलाया था। पांड्या के मुताबिक, उनका बेटा अपनी फर्म सेफ सॉल्यूशन के जरिए सीसीटीवी कैमरे जैसे घरेलू सुरक्षा उपकरणों का कारोबार करता है। उन्होंने यह भी कहा कि अमित बीजेपी से जुड़े रहे हैं और गुजरात नॉर्थ जोन में पार्टी के सोशल मीडिया सेल के संयोजक थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *