स्वास्थ्य को लेकर दैनिक रणघोष खास में जरूर पढ़िए

आयुर्वेद के चमत्कार – 2


पेट रोग को खत्म करने के लिए इन उपायों पर करें अमल, होगा सीधा फायदा


WhatsApp Image 2023-04-24 at 12.32.12 PMरणघोष खास. महावीर आजाद शास्त्री, प्रवक्ता संस्कृत प्रवक्ता, चरखी दादरी


उदर(पेट) रोग – आजकल हर मनुष्य बगैर सोचे समझे तथा बिना समय कुछ भी खाने लगते हैं। अधिकतर छोटे बच्चे, जवान तली हुई वस्तुएं खाना पसंद करते हैं। जो कि पेट में जाकर अपच बनाती है और उससे पेट में गैस, अफारा या दर्द बन जाता है। धीरे-धीरे पेट में अन्य बीमारियां अपना स्थान बना लेती हैं जिससे आदमी बहुत परेशान हो जाता है। यदि हम भोजन समय पर करें तथा उचित करें तो ऐसी बीमारियां कभी हम पर हमला नहीं करती और शरीर चुस्त दुरुस्त रहता है। आओ आज कब्ज के ऊपर विचार करें तथा मुख में होने वाले छालों के बारे में भी बात करें। निम्न उपायों को करने से मनुष्य को बहुत ज्यादा निरोगता मिलती है।
1 :- सरसों के दाने के समान भूनी हींग लेकर उसे मुनक्का में बीज निकालकर भर लें। इन दोनों को गर्म पानी के साथ सेवन करने से कब्ज नहीं रहती।
2 :- प्रतिदिन दोनों समय भोजन के बाद चौथाई चम्मच मेथी को पानी के साथ सेवन करने से कब्ज नहीं रहती।
3 :- प्रतिदिन छोटी हरड़ दो या तीन लेकर चूसने से कब्ज समाप्त हो जाती है।
4 :- कब्ज का रोगी यदि 7 दिन लगातार नींबू की शिकंजी सेवन करें तो कब्ज समाप्त हो जाती है।
5 :- 15 मुनक्का बीज निकालकर दूध में उबालकर सेवन करें तथा ऊपर से दूध सेवन करे।  ऐसा करने से कब्ज समाप्त हो जाती है।
6 :- रात को सोने से थोड़ा पहले सेंधा नमक व काली मिर्च मामूली मामूली टमाटर पर लगाकर सेवन करें तो कब्जी समाप्त होती है।
7 :- भोजन के साथ नियमित रूप से मूली की सलाद सेवन करने से हाजमा ठीक रहता है।
8 :- सोने से एक घंटा पहले 5 ग्राम त्रिफलाचूर्ण गर्म जल से सेवन करने पर कब्जी नहीं रहती।
9 :- सवेरे भोजन के समय लस्सी या दही में लवण भास्कर चूर्ण मिलाकर सेवन करने से कब्जी समाप्त होती है।
10 :- हरड़ 3 ग्राम, मिश्री 2 ग्राम, दोनों का चूर्ण बनाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से कब्ज समाप्त होती है।
11 :- हरा धनिया चबाकर थूक दें, ऐसा करने से मुख या जीभ के छाले समाप्त होते हैं।
12 :- दही के साथ केला सेवन करने से मुंह के छाले समाप्त होते हैं।
13 :- किशमिश व काली मिर्च मिलाकर चबाएं व थूक दें। ऐसा करने से मुंह के छाले नष्ट होते हैं।
14 :- पोदीना तथा मिश्री मिलाकर उसे चबाकर थूक दें। इससे भी मुंह के छाले समाप्त होते हैं।
15 :- लौंग तथा इलायची मिला चबाकर थूक दें। इससे मुंह के छाले नष्ट होते हैं।
नोट –  औषधि सेवन करने से पहले अपने वैद्य की सलाह लेकर निरोग बनें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *