पढ़िए अटेली विधानसभा के गांव सैदपुर को नेशनल मॉडल विलेज बनाने के इरादे से चुनाव में उतरे 34 साल के विकास की कहानी..

16 साल की उम्र में ही समाजसेवा का जुनुन, अब गांव को राष्ट्रीय पहचान दिलाने का संकल्प  


रणघोष खास. अटेली


अटेली से महज एक किमी दूर बसा गांव सैदपुर में भी पंचायत चुनाव को लेकर उफान जोरों पर है। लगभग पांच हजार आबादी एक हजार परिवार वाले इस गांव में इस बार 34 साल का युवा विकास यादव अपने गांव को नेशनल मॉडल बनाने के मजबूत इरादों के साथ मैदान में उतरा है। महज 16 साल की उम्र में ही वह गांव के तमन्ना युवा क्लब से जुड़कर गांव की सामाजिक और धार्मिक गतिविधियों में जुट गया था। एमबीए करने के बाद बैंक में नौकरी की और उसके बाद कंपनी के फाइनेंस क्षेत्र में आ गया लेकिन गांव से जुड़ाव हमेशा बनाए रखा। पिता माधाराम बिरला टेक्सटाइल भिवानी से रिटायर है और परिवार के सदस्य दादा छाजु पंच रहकर गांव की सेवा कर चुके हैं। पत्नी मोनिका यादव शिक्षिका है। विकास क्लब की युवा शक्ति के साथ लगातार गांव की तस्वीर को सुंदर बनाने के लिए जुटा हुआ है। यह तभी संभव है जब गांव की ग्राम पंचायत में आने वाले सदस्य साफ मन और कुछ कर गुजरने के इरादों से आए। इसी सोच के साथ बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद और युवा शक्ति को एकजुट करते हुए विकास ने सरपंच का चुनाव लड़ने का मन बनाया। 2 नवंबर को मतदान होना है। घर घर जाकर वह सिर्फ एक बार पांच साल की जिम्मेदारी मांग रहा है। साथ ही अपनी जिम्मेदारी एवं जवाबदेही भी खुद तय कर रहा है। उसने एक संकल्प पत्र तैयार करवाया है जिसमें पिछले 18 सालों में क्लब से जुड़कर करवाए गए कार्यों की रिपोर्ट और ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी मिलने पर पांच सालों में करवाए जाने वाले विकास का घोषणा पत्र घोषित किया है। विकास का कहना है वह अपने गांव की पहचान को राष्ट्रीय स्तर पर ले जाना चाहता है। जब हमारे क्षेत्र के बच्चे शिक्षा में परचम लहरा रहे हैं तो हमारे गांव की शोहरत उदाहरण बनकर पूरे देश में सुगंध की तरह क्यों नहीं फैल सकती। युवा शक्ति को अवसर तो दीजिए।

 

पिछले 18 सालों में विकास ने क्लब से जुटकर निभाई प्रमुख जिम्मेदारी

सरकारी स्कूल,  श्मशान घाट की कायाकल्प करने में विशेष भूमिका रही

विधायक सीताराम से मिलकर गांव में दो कच्चे रास्ते के लिए मनरेगा योजना के तहत रास्ते को पक्का करवाया।

गांवों में नालियां  खुली थी उस पर जालियां डलवाई

जन सहयोग से स्ट्रीट लाइटें लगवाईं

समय समय पर सफाई के लिए जोहड़ का पानी निकलवाया

गांव के बुजुर्गों की पेंशन बनवाने में टीम  के साथ सहयोग किया

कोरोना महामारी में मास्क, दवाइयां व जरूरतमंदों  को राशन देने के साथ अपनेस्तर पर  दो आक्सीजन मशीन उपलब्ध कराईं   

गांव में युवाओं को खेलों के प्रति रूझान बढ़ाने के लिए क्षेत्रीय कबड्‌डी प्रतियोगिता

पिछले 8 सालों में स्कूल के मैदान में खेल कूद प्रतियोगिता का आयोजन

स्कूल में प्रत्येक 15 अगस्त व 26 जनवरी को समारोह का आयोजन

जरूरतमंद परिवार की बेटियों की शादी में ज्यादा से ज्यादा आर्थिक मदद का संकल्प

पिछले 14 सालों से पौधारोपण अभियान जारी।

गांव में कुछ जगहों पर पाइप लाइन डलवाना, उसे ठीक करवाना

गांव में कोई बीमारी नहीं फैले समय समय पर गांव में फोंगिंग करवाईं

 

 पांच सालों में गांव ऐसे बनेगा राष्ट्रीय मॉडल

 

सरकारी स्कूल 8 वीं तक है उसे 12 वीं तक अपग्रेड कराना है

सरपंच के तौर पर हर माह  मिलने वाले 3 हजार रुपए का सरकारी भत्ता गांव के सबसे जरूरमंद परिवार की बेटी की शिक्षा पर खर्च करना

गांव में जो भी बेटा- बेटी कक्षा 10 वीं व 12 वीं अपने स्कूल या क्षेत्र में टॉप करेगा वह एक साल के लिए गांव का शिक्षा ब्रांड एंबेसडर बनेगा ताकि हमारे बच्चे शिक्षा के प्रति पूरी तरह समर्पित रहे

गांव में हर साल होली पर्व पर तिलक होली कार्यक्रम होगा जिसमें सबसे उम्र दराज 21 बुजुर्गों को सम्मानित किया जाएगा।

गांव के गौरवशाली इतिहास के गौरवशाली पटट को सार्वजनिक स्थान लगाया जाएगा ताकि आने वाली पीढ़ी उसे पढ़कर गर्व की अनुभूति करें।

– बेरोजगार युवा एवं  जरूरतमंद महिलाओं के लिए केंद्र व राज्य सरकार की स्वरोजगार योजना का सेंटर स्थापित करना

गांव में जितने भी रिटायर सैनिक या वर्तमान में डयूटी कर रहे जवान है। सभी के नाम     की सूची फोटों के साथ सरकारी स्कूल की दीवारों पर लगाएंगे ताकि देश के प्रति युवाओं में जज्बा बना रहे और सैनिकों का विशेष सम्मान हो।

गांव में स्वच्छता अभियान के तहत नालियों को खत्म कर सीवरेज लाइन बिछाई जाएगी

गांव में आरओ प्लांट लेकर आएंगे।

गांव को पूरी तरह से सौर ऊर्जा  से लैस करेंगे ताकि बिजली के बिलों से काफी हद तक निजात दिला सके

गांव का स्वागत द्वार बनाया जाएगा

पूरे गांव को सीसीटीवी कैमरे से लैस किया जाएगा

गांव में खिलाड़ियों के लिए स्टेडियम बनाया जाएगा।

जिस परिवार में सिर्फ बेटियां है। उसे महिला दिवस पर सम्मानित किया जाएगा

सभी पंचों को अपने वार्डों को माडल बनाने के लिए पूरे अधिकार दिए जाएंगे

गांव के विकास को लेकर जो भी निर्णय लिए जाएंगे व आमसभा से तय होंगे

– ग्राम सचिवालय को हाईटैक किया जाएगा

गांव में बनी धर्मशाला में सभी सुविधाओं से लैस किया जाएगा तकि सभी छोटे बड़े आयोजन हो जाए ताकि लाखों रुपए इधर उधर खर्च होने से बच जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: