अमृतपाल के पक्ष में खुलकर उतरे सांसद सिमरनजीत

कहासरेंडर मत करना, 1984 की तरह पाक भाग जाओ


लोकसभा सांसद और शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) के प्रमुख सिमरनजीत सिंह मान (Simranjit Singh Mann) ने जहर उगलते हुए कहा कि कहा कि भगोड़े खालिस्तानी अलगाववादी अमृतपाल सिंह (Amritpal Singh) को सरेंडर नहीं करना चाहिए. इसके बजाय अमृतपाल को पाकिस्तान भाग जाना चाहिए. सिमरनजीत ने कहा कि अमृतपाल को रावी नदी पार करनी चाहिए और पाकिस्तान (Pakistan) चले जाना चाहिए. सिमरनजीत मान केवल इतने पर ही नहीं रुके और कहा कि ‘हम 1984 में भी पाकिस्तान गए थे, है ना?’ एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा कि ‘अमृतपाल सिंह का पाकिस्तान भाग जाना सिख इतिहास के हिसाब से उचित है.’ क्योंकि उसका जीवन खतरे में है और सरकार ‘हम पर अत्याचार कर रही है.’

सिमरनजीत सिंह मान की टिप्पणी 1984 की उन घटनाओं की ओर इशारा करती है जो अंततः सिख विरोधी दंगों का कारण बनीं थीं. तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी (Indira Gandhi) ने जरनैल सिंह भिंडरावाले (Jarnail Singh Bhindranwale) और अन्य खालिस्तानी आतंकवादियों का सफाया करने के लिए ऑपरेशन ब्लू स्टार (Operation Blue Star) का आदेश दिया. बाद में इंदिरा गांधी की सिख अंगरक्षकों ने हत्या कर दी. उनकी मौत पर फैली नाराजगी के कारण 1984 में दिल्ली और कई शहरों में सिख विरोधी दंगे हुए. जिसमें हजारों सिखों की मौत हुई.

गौरतलब है कि खुफिया जानकारी मिली थी कि अमृतपाल अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में अकाल तख्त, बठिंडा में तख्त दमदमा साहिब या रूपनगर जिले के आनंदपुर साहिब में तख्त श्री केशगढ़ साहिब में बैसाखी की पूर्व संध्या से पहले आत्मसमर्पण कर सकता है. ऐसे वक्त में सिमरनजीत सिंह मान का बयान सामने आया है. पंजाब पुलिस 18 मार्च से खालिस्तानी अलगाववादी का पीछा कर रही है. इस दौरान अमृतपाल सिंह कम से कम चार अलग-अलग राज्यों- पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में शरण लेने के लिए मजबूर हुआ है. इस बीच अमृतपाल सिंह ने यूट्यूब पर एक वीडियो जारी कर दुनिया भर के सिखों से एकजुट होने की अपील की. इस वीडियो को उत्तर प्रदेश में शूट किया गया था और इसे यूके हैंडल्स द्वारा शेयर किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *