मानवता- इंसानियत की मिशाल बनी पंजाबी बिरादरी का अभियान जारी..

कोरोना पीड़ितों के पास एक फोन पर पहुंच रहा भोजन, यही सोच ही कोरोना को भगाएगी


पंजाबी बिरादरी रेवाड़ी 23 अप्रैल से होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों व उनके परिवारजन जो कोरोना बीमारी से ग्रस्त है और खाना बनाने मे असमर्थ है। वहां तक निःशुल्क भोजन पहुंचा रहे हैं। इस सेवा मे दिए जा रहे भोजन को रेवाड़ी की पंजाबी बिरादरी के सेवादारों द्वारा तैयार किया जा रहा है। पंजाबी बिरादरी के प्रधान प्रेम नाथ गेरा ने बताया कि इस सेवा को 5 लोगो के लिए शुरू किया गया था अब यह सेवा 150 लोगो तक पहुंच रही है। इस सेवा का लाभ लेने के लिए कोरोना संक्रमितो के लिए मोबाइल नंबर 9416183790,9812124600,9215952159,9896151199 जारी किया गया है ताकि कोरोना मरीज व उनके परिवारजन आवश्यकतानुसार भोजन प्राप्त कर सकें। पंजाबी बिरादरी के महासचिव नरेन्द्र सहगल ने बताया कि यह सेवा को शुरू करने का मक़सद जरुरतमंदों तक भोजन पहुंचाना है ताकि कोई भूखा नहीं सोये। उन्होंने कहा कि इसी सेवा को ध्यान में रखते हुए रेवाड़ी की पंजाबी बिरादरी ने होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना मरीजों या अस्पताल मे जो बाहर से आये लोग दाखिल है व उनके परिजनों को मुफ्त भोजन देने का बीड़ा उठाया है। बहुत से लोग दूसरे शहरों जैसे लखनऊ,चेन्नई,हिसार,दिल्ली,भिवानी से अस्पतालों मे भर्ती है वह भी इस सेवा का लाभ ले रहे है कोरोना संक्रिमतो के कहे अनुसार  पंजाबी एक सूरमा कौम है जब सभी अपने घरों मे है और ये सूरमा अपनी जान की परवाह किये बिना जनसेवा मे लगे है पंजाबी लोगो द्वारा दी जा रही भोजन सेवा उनके लिए किसी प्रसाद से कम नही है। पंजाबी बिरादरी के उपप्रधान अभिषेक झांम्ब ने कहा कि 21 तारीख़ को उनके एक जानकार दंपति जो दोनों ही कोरोना पॉजिटिव थे और खाना बनाने मे असमर्थ थे उन्होंने अभिषेक झाम्ब से घर जैसा सात्विक भोजन किस होटल पर मिलेगा की जानकारी के लिए फ़ोन किया तभी झाम्ब ने सोचा कि क्यूँ ना हमसब मिलकर इस सेवा को शुरू करे इस बाबत उन्होंने अपनी पंजाबी बिरादरी के मुखिया प्रेम नाथ गेरा से बात की और 23 तारीख से इस सेवा को निरंतर शुरू किया गया। उन्होंने बताया कि दोपहर और रात्रि के भोजन को कोरोना मरीज के घर या अस्पताल तक पहुंचने का कार्य सभी साथी मिल कर कर रहे है। संस्था द्वारा निःशुल्क भोजन प्राप्त करने के लिए कोरोना मरीज या उनके परिजनों को जारी किए गये वाट्सएप नंबर 9416183790,9215952159,9896151199 पर अपनी आरटी पीसीआर, एंटीजन या एचआरसीटी (तीनो में कोई भी एक रिपोर्ट) सदस्यों की संख्या, मोबाइल नम्बर और घर का पता भेजना होगा। जिससे उनके घर/अस्पताल तक पंजाबी बिरादरी के सेवादार आसानी से भोजन पहुंचा सकें झांम्ब ने इस पुण्य कार्य मे बिरादरी के सभी लोगों से सहयोग करने की अपील की है। इस सेवा को महासचिव नरेंद्र सहगल,अनिल अरनेजा,नम्रता सचदेवा(निम्मी),सुरेखा धींगरा,सुमन तियांश,गीतिका,किशन लाल मेहता,दीपक मेहंदीरत्ता, नवीन अरोड़ा,संजय चांदना,नंदलाल धींगरा, अधिवक्ता राज कुमार गेरा,अधिवक्ता अशोक सचदेवा (जिम्मी),हरभगवान नागपाल,अरुण टक्कर आदि सेवादारों के सहयोग से सहयोग से किया जा रहा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: