समाजसेवा का खिलखिलाता चेहरा रामनिवास गुप्ता नहीं रहे

चेहरे पर हमेशा मुस्कान- उत्साह एवं सकारात्मक सोच के धनी 62 वर्षीय रामनिवास गुप्ता का बीमारी के चलते निधन हो गया। वैश्व समाज से जुड़े अनेक संगठनों ने इसे  अपूरणीय क्षति बताई है। मूलत: गांव कुंड निवासी सेठ जोहरीमल के सबसे बड़े पुत्र रामनिवास गुप्ता महावर वैश्य समाज में राष्ट्रीय स्तर पर महत्वूपर्ण स्थान रखते थे। वे गुरुग्राम में समाज के जिला अध्यक्ष रहकर अनेक बड़े स्तर के कार्यक्रम आयोजित करवा चुके हैं। हरियाणा हाउसिंग बोर्ड में सेवा देने के बाद गुप्ता जी का अधिकांश समय समाज सेवा में गुजर रहा था। उनकी सबसे बड़ी खूबी सभी को साथ लेकर चलना, छोटे- बड़े सभी का सम्मान और हर समय सहयोग करने की भूमिका में अग्रणी रहे। महावर समाज को प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में उनकी बड़ी भूमिका रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: