दिल्ली में 9वीं और 11वीं कक्षाओं की परीक्षाएं रद्द, मिड टर्म परीक्षाओं के आधार पर किया जाएगा प्रोन्नत: सिसोदिया

रणघोष अपडेट. नई दिल्ली

दिल्ली सरकार ने कक्षा 9वीं और 11वीं की परीक्षाओं को भी रद्द कर दिया है और मिड टर्म परीक्षाओं के आधार पर इन विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रोन्नत किया जाएगा। इसके साथ दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कक्षा 6 से 9 की दाखिला प्रक्रिया के लिए रजिस्ट्रेशन 11 जून से शुरू हो जाएगा। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आज शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों के साथ एक बैठक की, जिसमें दाखिला और दाखिला प्रक्रिया को लेकर निर्णय लिए गए। बैठक में 9वीं और 11वीं के विद्यार्थियों की प्रोन्नत नीति और कक्षा 6 से 9 के विद्यार्थियों के लिए सरकारी विद्यालयों में दाखिले के विषयों पर निर्णय लिए गए। उपमुख्यमंत्री ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि केजी से कक्षा 8 के विद्यार्थियों को तो नो- डिटेंशन पॉलिसी के तहत अगली कक्षाओं में प्रमोट कर दिया गया था लेकिन 9वीं और 11वीं में पढ़ने वाले विद्यार्थियों में उनके रिजल्ट और आगे की पढ़ाई को लेकर अनिश्चिताएं बनी हुई थी।  9वीं और 11 वीं कक्षाओं की वार्षिक परीक्षा 12 अप्रैल को स्थगित कर दी गई थी इसके बाद दिल्ली सरकार ने विद्यार्थियों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए इन कक्षाओं की परीक्षाओं को रद्द करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि जो प्राइवेट स्कूल मिड टर्म और वार्षिक परीक्षा आयोजित कर चुके है, वो शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी किए गए प्रोन्नत नीति के तहत रिजल्ट जारी कर सकते है। जिन स्कूलों में मिड टर्म के परीक्षा नहीं हो पाई या जो बच्चे किसी कारण सभी परीक्षाएं नहीं दे पाए ऐसी स्थिति में उनके द्वारा मिड टर्म परीक्षा में जिन 2 विषयों में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया गया है, उसके अनुसार बाकी विषयों में अंक दिए जाएंगे। ये व्यवस्था सभी सरकारी व प्राइवेट स्कूलों के लिए लागू होगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के स्कूलों में कक्षा 9वीं और 11वीं में पढ़ने वाले सभी विद्यार्थियों का परिणाम 22 जून को शिक्षा निदेशालय की वेबसाइट पर जारी कर दिया जाएगा। विद्यार्थियों को उनका रिजल्ट व्हाट्सएप्प और एसएमएस के द्वारा उनके फ़ोन पर भी भेजा जाएगा। कोई भी स्कूल परिणाम के लिए अपने विद्यार्थियों को विद्यालय में नहीं बुलायेगा। जिन विद्यार्थियों ने सिर्फ एक विषय की मिड टर्म  परीक्षा दी है या किसी भी विषय की मिड टर्म परीक्षा  हीं दिया है और जो विद्यार्थी न्यूनतम अर्हता अंक भी नहीं ला पाए है उन्हें जुलाई में पुन: मूल्यांंकन का मौका दिया जाएगा। पुन: मूल्यांंकन के लिए विद्यार्थियों को किसी परीक्षा में नहीं बैठना पड़ेगा बल्कि प्रोजेक्ट्स और स्कूल आधरित कार्य के द्वारा उनका पुन: मूल्यांंकन किया जाएगा।इससे संबंधित सभी गाइडलाइंस शिक्षा निदेशालय द्वारा जल्द ही जारी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: