चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी 6 दिन के लिए बंद, एसआईटी करेगी मामले की जांच

रणघोष अपडेट. चंडीगढ़


चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में आपत्तिजनक वीडियो लीक होने के मामले में अब तक 3 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। यूनिवर्सिटी को 6 दिन के लिए बंद कर दिया गया है। इस मामले में फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो सकेगा कि छात्रा ने कितनी लड़कियों के वीडियो बनाए थे और क्या उसने इन्हें अपने दोस्त के साथ शेयर किया था। बताना होगा कि यूनिवर्सिटी प्रशासन और पुलिस प्रशासन बार-बार एक बात कह रहा है कि इस मामले में अभियुक्त छात्रा ने सिर्फ अपने वीडियो को ही अपने दोस्त के साथ शेयर किया था ना कि किसी और के वीडियो को। लेकिन यूनिवर्सिटी की छात्राओं के मन में इसे लेकर संदेह है।

अफवाहों पर ध्यान ना दें: डीजीपी


उधर, पंजाब सरकार ने इस मामले की जांच के लिए सीनियर आईपीएस अफसर गुरप्रीत देव की देखरेख में तीन सदस्यों की एसआईटी बना दी है। एसआईटी में तीनों महिलाएं हैं। पंजाब पुलिस के डीजीपी गौरव यादव ने कहा है कि एसआईटी इस पूरी साजिश की तह तक जाकर जांच करेगी और सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस को जब्त कर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है।  उन्होंने विश्वास दिलाया कि घटना में शामिल किसी भी शख्स को बख्शा नहीं जाएगा। डीजीपी ने सभी लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है और कहा है कि अफवाहों पर ध्यान ना दें। उन्होंने इस मामले में सहयोग के लिए हिमाचल पुलिस के डीजीपी को धन्यवाद दिया है।

दो वार्डन निलंबित


इस बीच बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं अपने घर चले गए हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए दो वार्डन को निलंबित कर दिया है। इसके अलावा सभी हॉस्टल की वार्डन का तबादला किया जा रहा है और हॉस्टल की टाइमिंग को भी बदल दिया गया है। इस मामले में जिन 3 लोगों की गिरफ्तारी हुई है उसमें अभियुक्त छात्रा, हिमाचल प्रदेश के शिमला से उसका दोस्त सनी मेहता और मेहता का एक दोस्त शामिल है। बताना होगा कि इस मामले में एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें अभियुक्त छात्रा के हॉस्टल की वार्डन उसे डांटते हुए कह रही है कि उसने आखिर वीडियो क्यों बनाए। खबरों के मुताबिक, यूनिवर्सिटी की इस छात्रा पर आरोप है कि उसने कई साथी छात्राओं के नहाते हुए वीडियो बना लिए और इसे शिमला में रहने वाले अपने दोस्त को भेज दिया और उसके बाद यह वीडियो इंटरनेट पर लीक कर दिए गए।आज तक के मुताबिक, यूनिवर्सिटी की कुछ छात्राओं ने कहा है कि उन्हें कनाडा से एक शख्स ने फोन कर धमकी दी है कि उसके पास उसके पास छात्राओं के वीडियो हैं और वह इन्हें वायरल कर देगा। इस मामले में पंजाब सरकार ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा है कि जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मामले के तूल पकड़ने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया था और सभी से धैर्य बनाए रखने के लिए कहा था।

जोरदार प्रदर्शन


वीडियो लीक होने की खबरों के बाद शनिवार रात को विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने जमकर प्रदर्शन किया था। इसके बाद रविवार को भी छात्र-छात्राएं सड़क पर उतरे थे और पुलिस और प्रशासन के साथ ही यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर्स ने भी उन्हें समझाने की बहुत कोशिश की थी। काफी देर समझाने के बाद रविवार रात को 1:30 बजे छात्र-छात्राओं ने धरना खत्म कर दिया। मामले में बवाल बढ़ने के बाद पंजाब के एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस गुरप्रीत देव ने भी कहा है कि अभियुक्त छात्रा ने सिर्फ अपने ही वीडियो को अपने दोस्त के साथ शेयर किया था और उसके फोन में किसी भी तरह का अन्य कोई आपत्तिजनक वीडियो नहीं मिला है। पुलिस ने इस मामले में आईटी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है। मोहाली के एसएसपी विवेक शील सोनी ने कहा है कि इस मामले में अभियुक्त छात्रा ने सिर्फ अपने वीडियो को ही अपने दोस्त के साथ शेयर किया था और पुलिस को किसी भी और लड़की का वीडियो उसके फोन में नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: