कोविड वैक्सीन क्यों और कब लगाएं विषय पर हुआ वेबीनार, डॉक्टरों ने सांझे किए अनुभव

कोविड  वैक्सीन को लेकर ललिता मेमोरियल अस्पताल की तरफ से ऑन लाइन वेबीनार का आयोजन किया गया।

मुख्य वक्ता मौलाना आज़ाद मेडिकल कॉलेज की डायरेक्टर प्रोफेसर  डॉ सुनीला गर्ग थी। वेबीनार में आए लोगों को इस विषय पर जानकारी दी।उन्होंने बताया कि कोविड वैक्सीन हानिकारक नहीं है तथा इसे लगवाना समय की ज़रूरत है । जब तक 70 प्रतिशत लोग या तो वैक्सीन नही लगवा लें या वे कोविड बीमारी से संक्रमित न हो जाएं तब तक हमें कोविड जैसा आचरण करते रहना पड़ेगा। मास्क लगाना ,सैनिटेशन व सोशल डिस्टेंस बहुत जरूरी है।  उन्होंने बताया कि हमारे देश में निर्मित वैक्सीन भी काफ़ी असरदार है तथा हमें उसे ही अपनाना चाहिए।

पैनल में  वक्ता के तौर पर  गुरुग्राम से डॉ जयभागवान गर्ग, नोएडा अपोलो पेडिअट्रिक प्रमुख डॉ अरविन्द गर्ग, डॉ पवन गोयल आईएमए रेवाड़ी प्रधान, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ शिवरतन यादव एवं डॉ घनश्याम मित्तल अध्यक्ष डॉक्टर्स फॉर सोसाइटी उपस्थित रहे।  आईएमए रेवाड़ी तथा डॉक्टर्स फॉर सोसाइटी के संयुक्त तत्वाधान मे हुई इस मीटिंग मे बताया कि सभी लोगो को वैक्सीन से सम्बंधित सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन फॉलो करनी चाहिए। गर्भवती महिला या दूध पिलाने वाली माताओं को जब तक इसके दूरदर्शी प्रभाव न पता चले तब तक यह वैक्सीन ना ले। घर मे वैक्सीन लेने वाला व्यक्ति भी मास्क पहने व सभी लोगो से दूर व कोविड आचरण में रहे ।

जो व्यक्ति कोविड से ठीक हो गए उन्हें भी वैक्सीन लेना है। पहले यदि किसी भी वैक्सीन से एलर्जी हुई हो वो वैक्सीन ना ले। सिरिंज एवं वैक्सीन वेस्ट को भली भांति डिस्पोज करें। कार्यक्रम का संचालन करते हुए  डॉ सीमा मित्तल ने बताया की वैक्सीन बेहद सुरक्षित है। पहले चरण में केवल आपातकाल इस्तेमाल के तौर पर कोविड से जुड़े स्वास्थ्य कर्ताओ ,पूलिस कर्मियों,सफ़ाई कर्मियों व अन्य कोविड योद्धाओं को दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: