परिवार पहचान पत्र डाटा अपडेशन कार्य को शत प्रतिशत पूरा करें अधिकारी : कुशल कटारिया

पीपीपी अपडेशन को लेकर एसडीएम ने नाहड़ और जाटूसाना खंड के अधिकारियों को बैठक में दिए निर्देश


परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) डाटा अपडेशन कार्य की समीक्षा करते हुए एसडीएम कुशल कटारिया ने मंगलवार को कोसली स्थित मिनी सचिवालय में सेक्टर सुपरवाइजर  की बैठक ली और परिवार पहचान पत्र का डाटा अपडेट के कार्य में तेजी लाते हुए शो प्रतिशत पूरा करने के निर्देश दिए।  इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी (ना.)कुशल कटारिया ने कहा कि परिवार पहचान पत्र के लिए ली जाने वाली जानकारी पूरी तरह से सही होनी आवश्यक है इसलिए डाटा को पूरी तरह से अपडेट तभी माना जाएगा जब परिवार के मुखिया के हस्ताक्षर के साथ डाटा अपलोड होगा। उन्होंने कहा कि परिवार पहचान पत्र एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होगा और सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाओं को इससे लिंक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों के डाटा को अपडेट व वैरिफाई करवाने के लिए प्रबुध जनों का सहयोग लिया जाए। उन्होंने कहा कि सैक्टर सुपरवाईजर इस कार्य को बोझ ना मानकर अपनी डयूटी के तौर पर पीपीपी कार्य निपटाएं। उन्होंने कहा कि जो सीएससी संचालक इस कार्य को सही ढंग से नहीं कर रहे,ऐसे संचालकों की सूचना कार्यालय में दी जाए। एसडीएम कुशल कटारिया ने कहा कि परिवार पहचान पत्र संबंधी कार्यों के लिए नियुक्त अधिकारी परिवार पहचान पत्र का डाटा अपडेट व वैरिफाई करने के लिए मिशन मोड में काम करें,जिससे अधिक से अधिक परिवार पहचान पत्र का डाटा अपडेट किया जा सके।  उन्होंने कहा कि अभी तक नाहड खंड में 93 प्रतिशत और खंड जाटूसाना में 63 प्रतिशत से ज्यादा कार्य पूरा हो चुका है,ऐसे में अधिकारी यूनिट कमेटी के माध्यम से सीएससी सैंटरों पर अपडेशन कार्य पूरा करवाना सुनिश्चित करें। उन्होने दोहराया कि पीपीपी डाटा अपडेशन कार्य में निरंतर तेजी लाने की आवश्यकता है,जिसके लिए गांवों में बचे हुए लोगों को परिवार पहचान पत्र के लिए प्रेरित किया जाए। चूंकि सरकार द्वारा चलाई जाने वाली जरूरी सेवाएं के लिए परिवार पहचान पत्र का होना बेहद जरूरी है। उन्होंने यूनिट कमेटी के सदस्यों को आहवान किया कि वे पीपीपी अडेशन के लिए समन्वय के साथ कार्य करें,ताकि इस कार्य को शत -प्रतिशत पूरा किया जा सके । डाटा अपडेशन कार्य से जुडे समन्वयक मनेंद्र सिंह ने बताया कि परिवार के सभी सदस्यों का आधार कार्ड नंबर, बैंक पासबुक की प्रति, वोटर कार्ड की प्रति के साथ गांवों में सीएससी सैंटर पर अपडेशन कराया जा सकता है। यदि कोई भी सदस्य आयकरदाता है तो पैन नंबर की प्रति भी साथ होनी चाहिए। इस अवसर पर सैक्टर सुपरवाइजर बीरेंद्र सिंह,रामलाल,रीडर जागेंद्र सिंह,दयाराम सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: