रणघोष की सीधी सपाट बात

 खोल खंड के गांवों में घूमता हुआ एम्स अब बावल खंड के गांव  बिशनपुर में पहुंच गया है


ऐसे ही चलता रहा तो हर गांव में एम्स जिन्न बनकर ग्रामीणों को सपने दिखाता रहेगा


रणघोष खास. सुभाष चौधरी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जुबान से निकला मनेठी एम्स हकीकत में अब चिराग का जिन्न बन गया है। जिसके हाथ में यह चिराग आ जाता है वह एम्स बने जिन्न को अपने हिसाब से गांवों में घूमाने लग जाता है। पिछले पांच सालों से यह जिन्न ना जाने कितने सैकड़ों- हजारों लोगों के सपनों में आकर उनकी नींद उड़ा चुका है। सबसे बुरी स्थिति उनकी है जो जिन्न की बात मानकर बनने वाले एम्स के चारों तरफ प्रोपर्टी का काम शुरू कर देते हैं। कुछ दिन बाद पता चलता है जिन्न तो उड़कर कहीं ओर चला गया है। इसमें कोई शक नहीं कि दिल्ली से एम्स सही हालात में हरियाणा में प्रवेश करता हुआ रेवाड़ी जिले के गांव मनेठी की जमीन पर पहुंच गया था कि अचानक वन विभाग की नजर उस पर पड़ गई और उसे अपने कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी। पता चला कि एम्स के लिए जिस जमीन की फाइनल किया गया था वह पहले ही पर्यावरण के लिए संरक्षित है। फिर क्या था एम्स वापस वहीं लौट गया जहां से आया था। इससे पहले की केंद्र एवं राज्य सरकार कुछ समझ पाती मनेठी एवं आस पास के ग्रामीणों ने इसे धोखा बताकर एम्स को वापस लाने के लिए संघर्ष शुरू कर दिया जो रंग लाया और एम्स वापस  रेवाड़ी में मसानी के साथ साथ मनेठी के साथ लगती माजरा- भालखी की जमीन पर आने के सपने दिखाने लगा। सैकड़ों हजारों लोगों ने एम्स को लेकर अपनी पंचवर्षीय योजनाएं बनाकर उस पर काम करना शुरू कर दिया। एम्स की वजह से गांवों की जमीनें हिलौरे मारने लगी और किसानों ने  369 एकड़ जमीन एम्स के नाम कर दी। इस बार लगा कि एम्स को अपनी जमीन मिल गई है अब कहीं नहीं जाएगा लेकिन यहां भी जमीन की मुआवजा राशि पर सहमति नहीं होने से यह एम्स अब पूरी तरह जिन्न की तरह नजर आने लगा है। इसलिए वह उड़कर एक बार फिर आस पास के गांवों नांगल जमालपुर, खालेटा-धवाना पर मंडराने लगा है। इससे पहले की जिन्न के चिराग पर कोई कब्जा करता वह घूमता हुआ अब बावल खंड के गांव बिशनपुर में पहुंच गया है। जिला प्रशासन के अधिकारी भी हैरान है कि देश की सबसे बड़ी परियोजना भी इधर उधर भटकती हुई जिन्न की शक्ल में नजर आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: