सोमाणी कॉलेज ने कोविड-19 के कारण माता पिता को खो देने वाले विद्यार्थियों को निशुल्क शिक्षा देने का लिया फैसला

क्षेत्र के सबसे पुराने सोमाणी इंस्टीटयूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट कालेज की मैनेजमेंट की महत्वपूर्ण बैठक हुई । संस्था के वाइस चेयरमैन विशाल सोमाणी, अधिवक्ता, सुप्रीम कोर्ट ने बताया कि  बैठक में  अति महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए एक प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। जिसमें आगामी शैक्षणिक वर्ष  2021-22 में संस्था में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों जिनके माता-पिता का कोविड-19 के कारण निधन हो गया उन्हें निशुल्क शिक्षा दी जाएगी   इसके अतिरिक्त विद्यार्थियों के जीवन बीमा संबंधित विषय पर भी मंथन किया गया । ज्ञात रहे पिछले साल सोमाणी शिक्षण संस्थान ने कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए विद्यार्थियों की 40% फीस माफ कर दी थी जिससे सैकड़ों की तादाद में विद्यार्थी लाभान्वित हुए और पूरे देश के बुद्धिजीवीयो ने संस्था की बड़ी सराहना की थी। कोरोना काल में भी विद्यार्थियों की जरूरत को देखते हुए पुस्तकालय में नई पुस्तकों की खरीद, डिजिटल सुविधाओं की उपलब्धता संस्था द्वारा सामाजिक सरोकार से जुड़े कार्य, ऑनलाइन सेमिनार, वर्कशॉप आदि का आयोजन, विद्यार्थियों के हित में ई लर्निंग मैनेजमेंट की शुरुआत की गई । संस्थान के डिप्टी डायरेक्टर प्रोफेसर अमित कुमार ने बताया कि महाविद्यालय के पास संसाधनों की कोई कमी नहीं है हाई टेक्नोलॉजी लैब, डिजिटल लाइब्रेरी, फुल वाईफाई केंपस, विद्यार्थियों के लिए आउटडोर, इंडोर गेम्स, स्विमिंग पूल, हॉर्स राइडिंग आदि की सुविधा है संस्था के लीगल एडवाइजर परिवर्तन  सोमाणी ने बताया महाविद्यालय इसी वर्ष  एलएलएम  व जर्नलिज्म कोर्स शुरू करने वाला है ताकि विद्यार्थियों को कानून में पत्रकारिता की पढ़ाई के लिए दूर जाना ना पड़े। इस मौके पर प्रो इंद्रजीत ,   प्रो  शिवानी, प्रो स्नेहा , राहुल, प्रीति, अनूप आदि मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *