किसान आंदोलन समर्थन में श्रमिक संगठनों ने मनाया काला दिवस

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 3 काले कृषि कानूनों एवं संशोधित बिजली बिल के विरोध में न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी दर्जा देने की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन के 6 महीने पूरे होने पर एवं मोदी सरकार के फासिस्ट जनविरोधी शासन के 7 वर्ष पूरा होने पर ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन ने जिला के विभिन्न गांवों मैं काला दिवस मनाया। मोदी सरकार का पुतला दहन किया श्रमिक संगठन एआई यूटीयूसी से संबंधित यूनियनों ने भी  किसानों के साथ अपना अटूट एकता एवं भाईचारा दर्शाते हुए काला दिवस मनाया। किसान खेत मजदूर संगठन के जिला सचिव राम कुमार निमोट एवं श्रमिक संगठन एआईयूटी यूसी के प्रांतीय प्रधान एवं किसान आंदोलन मैं सक्रिय कामरेड राजेंद्र सिंह एडवोकेट ने बताया की जिला के गांव निमोट, जैनाबाद, डहीना, मीरपुर, सुनारिया ततारपुर राजपुरा समेत अनेकों गांवों में  किसानों ने अपने घरों पर काले झंडे लगाकर काला दिवस मनाया एवं किसान आंदोलन में शहीद किसानों को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की । उन्होंने कहा कि सार्वजनिक प्रतिष्ठानों का निजी करण करके कौड़ियों के दामों में पूंजी पतियों को दे दिया है अब अदानी अंबानी की लूट के लिए किसान की खेती पर सरकार की नजरें टिकी हुई है इसलिए तीन काले  कृषि कानून लेकर आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *